top of page

Jhumka Tutal Ho Lyrics Ritesh Pandey and Arohi Bhardwaj



Jhumka Tutal Ho Lyrics


चलेलु त हुचकी आवे

चेहरा प ना मुस्की बावे

तहरा मे गलती बा की बाटे भतार मे

काहे तेल छपले बारु अपना कपार



झुमका टूटल हो रात सैया संग तकरार मे -2

लाज के बतिया का हम बताई पूछे ल बेकार मे झुमका


चिकन चाकन देह तहार भइल बाटे रुखर

रात भर सिटी मारले होकाबु जैसे कुकर


एकही त हाल बाटे सारा मरद के

माजा लीहे भले मेहर मरे दरद् से


कमी काउनो होखे नाही देहब् श्रृंगार मे

चल जोरवा दीही सोना के बाजार मे

झुमका



हुलिया बताव ता हिलावल बारु जोर से

फुलाल बाटे ठोर रागारायल बाटे ठोर से


माजा मे सजा राते मिल गउवे भारी

दिया बुता के पिया धउवे अक्वारी


पवन रितेश के घुमावत रहलू प्यार मे

बड़ी चोना करत रहलू तु त कुवार मे

झुमका

89 views0 comments

Related Posts

See All

Comments


bottom of page