top of page

Tu Hi Haqeeqat Lyrics in Hindi Javed Ali



Tu Hi Haqeeqat Lyrics


तू ही हकीकत ख्वाब तू

दरिया तू ही प्यास तू

तू ही दिल की बेकरारी

तू सुकूं तू सुकूं

जाऊ मैं अब्ब जब जिस जगह

पाऊं मैं तुझको उस जगह

साथ होके न हो तू है रूबरू रुबुरू

तू हमसफ़र तू हमकदम तू हमनवा मेरा

तू हमसफ़र तू हमकदम तू हमनवा मेरा



आ तुझे इन बाहों में भर के और भी कर लूं मैं करीब

तू जुदा हो तो लगे हैं आता जाता हर पल अजीब

इस जहां में है और न होगा मुझसा कोइ भी खुशनसीब

तुने मुझको दिल दिया है में हूँ तेरे सबसे करीब

में ही तो तेरे दिल में हूँ में ही तोह साँसों में बसूं

तेरे दिल की धड़कनों में मैं ही हूँ मैं ही हूँ

तू हमसफ़र तू हमकदम तू हमनवा मेरा

तू हमसफ़र तू हमकदम तू हमनवा मेरा



हो कब भला अब यह वक़्त गुजरे कुछ पता चलता ही नहीं

जबसे मुझको तू मिला है होश कुछ भी अपना नहीं

उफ़ यह तेरी पलकें घनी सी छाँव इनकी है दिलनशी

अब किसे डर धुप का है क्यूँ की है ये मुझपे बिछी

तेरे बिना न सांस लूं तेरे बिना न मैं जियूं

तेरे बिना न एक पल भी रह सकूं रह सकूं

तू ही हकीकत ख्वाब तू

दरिया तू ही प्यास तू

तू ही दिल की बेकरारी

तू सुकूं तू सुकूं

तू हमसफ़र तू हमकदम तू हमनवा मेरा

तू हमसफ़र तू हमकदम तू हमनवा मेरा

तू हमसफ़र तू हमकदम तू हमनवा मेरा

तू हमसफ़र तू हमकदम तू हमनवा मेरा

137 views

Related Posts

See All

Comments


bottom of page